Core Of The Heart

भूल के काली शब को , लिखो एक नया कुर्शिदा | गुम न होने पाए आवाज तेरी , बरसों तक सुनाई देती रहे सदा ||

24 Posts

145 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 10014 postid : 661466

अगर मेरी एक छोटी बहन होती

  • SocialTwist Tell-a-Friend

बनता घोड़ा,
उसे पीठ पर घुमाता ।
रोज़ बाज़ार जाकर,
उसके लिए उपहार लाता ॥

संग उसके खेलता,
उसे खूब पढ़ाता ।
करती कोई शरारत तो,
डाँटकर प्यार से समझाता ॥

रक्षक बनकर,
उसे हर संकट से बचाता।
कोई नज़र उठती उसकी ओर तो ,
वो आँख ही निकाल लाता ॥

सजाता उसकी डोली,
एक राजकुमार खोज लाता।
अगर होती एक छोटी बहन मेरी,
उसे सर – आँखों पर बिठाता ॥

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran